UPSTF: 300 लोगों से 10 करोड़ की ठगी करने वाले गिरफ्तार

Spread the love

लखनऊ। मत्स्य पालन कराने के नाम पर करीब 300 लोगों से 10 करोड़ की ठगी करने वाले कंपनी के निदेशक समेत दो लोगों को एसटीएफ  ने लखनऊ से गिरफ्तार किया है।

पकड़े गए आरोपी 14 महीने में धन दोगुना करने का झांसा देकर ठगी करते थे। आरोपियों ने उत्तर प्रदेश समेत कई राज्यों के लोगों से ठगी की है।

एसटीएफ  ने कंपनी मालिक समेत दो लोगों को लखनऊ से दबोचा

एसटीएफ के एसएसपी के मुताबिक कंपनी के मालिक विश्वनाथ प्रसाद निषाद व निरंजन निवासीगण लखीमपुर खीरी को ओला आफिस के निकट विभूतिखण्ड लखनऊ से गिरफ्तार किया गया।

आरोपियों के पास से चार मोबाइल, तीन वर्क लेटरहेड, 55 वर्क कस्टमर डिटेल कुल 2704 आइडी समेत अन्य साम्रगी बरामद हुई है। कंपनी मालिक विश्वनाथ अपने सहयोगाी निरंजन से मिलने लखनऊ आये थे।

इसी दौरान दोनों लोगों को दबोच लिया गया। मुख्य आरोपी विश्वनाथ ने बताया कि ठगी के रुपये से लखनऊ व उन्नाव में जमीन व आठ चार पहिया वाहन खरीदे हैं।

ने कम्पनी के सभी बैंक खाते फ्रीज करा दिये गये हैं। वहीं अन्य डायरेक्टर व एसोसिएट व ब्रोकरों की गरफ्तारी के प्रयास किये जा रहे हैं।

मत्स्य पालन में मुनाफे का लालच देकर करते थे ठगी

पूछताछ में आरोपी विश्वनाथ प्रसाद निषाद ने बताया कि वर्ष 2018 में माउंटेन एलाएंस प्रा.लि. कम्पनी बनायी थी। जिसमे उसके अलावा तारा चौहान व साहिल कुमार डायरेक्टर हैं।

वर्ष 2019-2020 में विभूतिखण्ड गोमतीनगर में आफिस व काल सेन्टर खोलकर लोगों को काल कराकर झांसा दिया गया। कम्पनी ने मत्स्य पालन करके 14 महीने मे लोगों का रुपया दोगुना किये जाने का लालच दिया गया।

इस तरह कम्पनी में 2000 से 10 लाख रुपये तक जमा करने की विभिन्न स्कीमों के माध्यम से लोगों से रुपये जमा करवाये गये। इसके अलावा पांच लाख पचास हजार जमा करने पर कम्पनी उस व्यक्ति के यहां तालाब खुदवाने व उसमें मछली पालन पर 14 माह तक 75 हजार रुपये प्रति माह व उसके तालाब पर ही 8000 प्रति माह के हिसाब से चौकीदार की नौकरी भी देने का दावा किया गया।

आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि एसोसिएटों व ब्रोकरों के माध्यम से मार्च 2021 तक उत्तर प्रदेश व मध्य प्रदेश के लगभग 300 लोगों का 10 करोड़ रुपया कम्पनी में जमा हुआ। जिसके बाद माह अप्रैल 2021 में आफिस बन्द कर हम लोग फरार हो गये।