Ajit Singh murder case in Lucknow: कमता बस अड्डे पर खून से लथपथ मिली दो बाइक, तीन पर एफआइआर

घायल मोहर सिंह की तहरीर पर तीन के खिलाफ नामजद एफआइआर दर्ज। अजीत सिंह की गाड़ी पर सचिवालय का पास भी लगा था। सचिवालय का पास विधायक के नाम से जारी किया है जिसे प्रमुख सचिव विधान परिषद ने जारी किया था।

लखनऊ। गैंगवार में मऊ के ब्लॉक प्रमुख प्रतिनिधि अजीत सिंह की गोली मारकर हत्या के मामले में गुरुवार को कमता बस अड्डे पर पुलिस ने दो लावारिस बाइक बरामद की। माना जा रहा है कि हमलावर इन्हीं गाड़ियों से आए थे। बाइक पर खून भी लगा हुआ है। पुलिस का कहना है कि गैंगवार में मोहर सिंह की फायरिंग में एक हमलावर के सीने में भी गोली लगी थी। इसके बाद वह साथियों के साथ बाइक से भाग निकला था। इस मामले में बदमाशों की गोली से घायल मोहर सिंह की तहरीर पर तीन लोगों के खिलाफ विभूति खंड थाने में नामजद एफआइआर दर्ज की गई है।

आरोपितों में ध्रुव सिंह उर्फ कुण्टू, अखंड प्रताप सिंह और कन्हैया विश्वकर्मा उर्फ गिरधारी उर्फ डॉक्टर शामिल हैं। पूर्व विधायक सर्वेश सिंह की हत्या मेें गवाही देने से रोकने के लिए अजीत की हत्या किए जाने का आरोप है। पुलिस बरामद बाइक की फॉरेंसिक जांच करा रही है। अजीत सिंह की गाड़ी पर सचिवालय का पास भी लगा था। सचिवालय का पास विधायक के नाम से जारी किया है, जिसे प्रमुख सचिव विधान परिषद ने जारी किया था। पुलिस आसपास के इलाके के निजी अस्पतालों में भी छानबीन कर रही है।
माना जा रहा है कि घायल बदमाश किसी अस्पताल में इलाज करवाने गया होगा। हालांकि पुलिस को अभी तक इस बारे में कोई अहम जानकारी नहीं मिल सकी है। उधर, गुरुवार शाम को शव का पोस्टमार्टम किया गया। सूत्रों का कहना है कि अजीत को कुल 12 गोलियां मारी गई थीं। तीन हमलावरों में से एक दोनों हाथों से गोली चला रहा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.