ट्रम्प अपने अड़ियल रवैये पर कायम टीवी इंटरव्यू में बोले- बाइडेन को राष्ट्रपति नहीं मानूंगा

वॉशिंगटन चुनाव में धांधली के दावे कोर्ट में खारिज होने पर ट्रम्प बोले- हम सबूत पेश करने की कोशिश करते हैं, लेकिन जज हमें इसकी इजाजत नहीं देते।

अमेरिका में डोनाल्ड ट्रम्प चुनाव नतीजों को लेकर अपनी जिद पर अड़े हुए हैं। री-इलेक्शन की उनकी याचिका खारिज होने के बाद पहले टीवी इंटरव्यू में ट्रम्प ने कहा- मैं जो बाइडेन को कभी राष्ट्रपति के तौर पर स्वीकार नहीं करूंगा। मैं बड़े पैमाने पर वोटिंग फ्रॉड के उनके षड्यंत्र को नहीं भूल सकता। आप मेरी राय नहीं बदल सकते। छह महीने में मेरा नजरिया नहीं बदला है। इस चुनाव में धांधली हुई है। यह चुनाव पूरी तरह फर्जी था। अगर ऐसा नहीं होता, तो हम आराम से चुनाव जीत जाते।
3 नवंबर के बाद अपने पहले टीवी इंटरव्यू में ट्रम्प लगातार चुनाव में फर्जीवाड़े की बात कहते रहे। हालांकि वे इसके लिए कोई सबूत नहीं दे सके। उनकी लीगल टीम भी अब तक चुनाव में धांधली को लेकर कोई ठोस सबूत नहीं जुटा सकी है।

ट्रम्प का आरोपहै कि सुप्रीम कोर्ट भी हमारी बात नहीं सुन रहा

अमेरिका में डिपार्टमेंट ऑफ जस्टिस और फेडरल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन (FBI) का प्रमुख राष्ट्रपति ही होता है। इसके बावजूद ट्रम्प ने दोनों विभागों पर सहयोग न करने का आरोप लगाया। ट्रम्प ने कहा- वे सीन से ही गायब हैं। सुप्रीम कोर्ट को हमारी बात सुननी चाहिए थी। अगर सुप्रीम कोर्ट ऐसे मामले में दखल नहीं दे सकता, तो उसके होने का मतलब क्या है?

वॉशिंगटन चुनाव में धांधली के दावे कोर्ट में खारिज होने पर ट्रम्प बोले- हम सबूत पेश करने की कोशिश करते हैं, लेकिन जज हमें इसकी इजाजत नहीं देते।

देशभर की अदालतों में ट्रम्प की तरफ से दाखिल केस एक के बाद खारिज हो रहे हैं। पेन्सिलवेनिया के सुप्रीम कोर्ट ने भी शनिवार को ट्रम्प के समर्थकों की तरफ से दायर लॉ सूट खारिज कर दिया। इसमें पेन्सिवेनिया में बाइडेन की जीत को चुनौती दी गई थी। इस पर ट्रम्प ने कहा- हम सबूत पेश करने की कोशिश करते हैं, लेकिन जज हमें इसकी इजाजत नहीं देते। हम फिर भी कोशिश कर रहे हैं। हमारे पास ढेर सारे सबूत हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.