Pakistan :ने सरहद पार खुले में जला दी 10 क्विंटल हेरोइन, रात भर बदबू से बेहाल हुए भारत के गांव

 Pakistan:ने रात करीब 11 बजे इंटीग्रेटेड चेक पोस्ट (Integrated Check Post) पर जीरो लाइन के पार 800 मीटर दूर कार्गो में यह घटना अंजाम दी.

चंडीगढ़. अमृतसर (Amritsar) के साथ सटे पाकिस्तान (Pakistan) के बॉर्डर (Indo-Pak border) पर पाकिस्तान के अधिकारियों ने करीब 10 क्विंटल हेरोइन (Heroin) और अन्य मादक सामग्री को खुले में ही जला दिया. जिससे आसमान पर काला धुआं छाया रहा और इसकी बदबू भारत के सरहदी इलाकों तक आती रही. एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक इंटीग्रेटेड चेक पोस्ट (Integrated Check Post) पर जीरो लाइन के पार 800 मीटर दूर पाकिस्तान का कार्गो है. वहीं पर रात में करीब 11 बजे कार्रवाई की गई.

बताया जा रहा है कि आमतौर पर कस्टम डे पर विभाग मादकों पदार्थों को भट्ठी में जलाता है लेकिन पाकिस्तान के गोदाम इससे पहले ही भर गए थे. नशीले पदार्थों की यह खेप भारत आनी थी लेकिन सरहद पर चौकसी के कारण यह नहीं पहुंच पाई.

पाकिस्तान से तस्कर हेरोइन व अन्य नशीले पदार्थों की तस्करी के लिए नए नए तरीके इस्तेमाल करते हैं. हेरोइन सहित अन्य मादक पदार्थ की तस्करी के लिए पहले छोटे-छोटे पैकेट तैयार करते हैं. फिर इन पैकेट्स को एक से दूसरे को जोड़कर अंडाकार बना दिया जाता है. जिससे पैकेट को पाइप में डालकर आगे भारत के बार्डर से पार किया जा सके. उसके बाद भारतीय सीमा में खड़ा तस्कर पाइप के दूसरे हिस्से पर पैकेट्स को रिसीव कर लेता है. यह कार्रवाई चंद मिनट में ही की जाती है. कई बार बॉर्डर पर तैनात जवानों को इस बात का पता ही नहीं चलता है क्योंकि चौकियों के बीच की दूरी काफी ज्यादा होती है.

हालांकि बीएसएफ के जवान ऊंट पर व पैदल भी पेट्रोलिंग करते हैं. एक दूरी तक रातभर चक्कर काटने के बाद भी ऐसा हिस्सा रह जाता है, जहां अक्सर जवान नहीं पहुंच पाते है. तस्कर ऐसे ही स्थान को नोटिफाई करते हैं. नशे के सौदागर इतने शातिर होते हैं कि तस्करी करने के लिए अनुकूल मौसम का इंतजार करते हैं.

यहां तक कि मौसम पर भी उनकी पूरी नजर होती है. सर्दी के दिनों में जब घना कोहरा होता है और गर्मी के दिनों में रात के समय जब तेज अंधड़ होता है तो तस्कर मौके का फायदा उठाकर नशीले पदार्थों और नकदी का लेनदेन करते हैं.