आइये जानते है सुपर स्प्रेडर नया स्ट्रेन किन किन देशों में फैला चुका है

डेनमार्क, ब्रिटेन, ऑस्ट्रेलिया, नीदरलैंड और इटली में नए कोरोना वायरस की पुष्टि हो चुकी है.कई देशों ने चिंता जाहिर की है कि उनके यहां कोरोना वायरस स्ट्रेन पहले से मौजूद हो सकता है नवंबर के महीने में ब्रिटेन से 2 यात्री ऑस्ट्रेलिया गए थे, जिनमें कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन की पुष्टि हुई है.

हाल ही में ब्रिटेन में मिला कोरोना का नया स्ट्रेन बहुत तेजी से फ़ैल रहा है. भारत सहित कई देशों से बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए ब्रिटेन के साथ हवाई सेवाएं भी स्थगित कर दी है. लेकिन अब तक नया कोरोना वायरस कम से कम पांच देशों में फ़ैल गया है. बढ़ते मामलों को देखते हुए अब लोग भी ज्यादा पैनिक होने लगे हैं.

रिपोर्ट्स के मुताबिक कई देशों में नए कोरोना वायरस की पुष्टि हो चुकी है. बता दें कि फ़्रांस में इस नए वायरस को लेकर चेतावनी दी गई है. जिन देशों में नए स्ट्रेन की पुष्टि हुई है वह देश हैं.ब्रिटेन डेनमार्क ऑस्ट्रेलिया नीदरलैंड और इटली।

बहुत तेजी से फ़ैल रहा है लंदन में कोरोना का नया स्ट्रेन

जानकारी के मुताबिक, लंदन में कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन बहुत तेजी से फ़ैल रहा है. वहीं, बढ़ते मामलों को देखते हुए ब्रिटेन में कड़ी पाबंदियां लागू कर दी गयी हैं. ब्रिटेन सरकार भी कड़ा रुख अपना है. स्थानीय सरकार ने देश के कई हिस्सों में कड़े नियम लागू किए हैं. इसके अलावा सरकार ने गाइडलाइन्स भी जारी कर दी है.

फ़्रांस के स्वास्थ्य मंत्री ने जताई चिंता

बढ़ते मामलों को देखते हुए फ़्रांस के स्वास्थ्य मंत्री ने चिंता जाहिर की. उन्होंने कहा, ये चिंता की बात है कि कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन अब तेजी से फ़ैल रहा है. हमें लगता है कि ये पहले से ही एक देश से दूसरे देश में फ़ैल रहा हो.

इन देशों में आए हैं इतने मामले

गौरतलब है कि ब्रिटेन में 33,364 नए मामले सामने आने के बाद कुल मामलों की संख्या बढ़कर 20,73,511 हो गई है. जबकि नीदरलैंड में अब तक 7,00,873 सामने आए हैं. इटली में अब तक कुल 19,64,054 मामले सामने आ चुके हैं. साथ ही साथ 28,198 मामले अब तक आ चुके हैं.

जानकारी के मुताबिक, लंदन में कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन बहुत तेजी से फ़ैल रहा है. वहीं, बढ़ते मामलों को देखते हुए ब्रिटेन में कड़ी पाबंदियां लागू कर दी गयी हैं. ब्रिटेन सरकार भी कड़ा रुख अपना है. स्थानीय सरकार ने देश के कई हिस्सों में कड़े नियम लागू किए हैं. इसके अलावा सरकार ने गाइडलाइन्स भी जारी कर दी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.