सलमान खान ‘फरिश्ता’,हैं ऐसा बोले रेमो डिसूजा जानिए पूरा मामला क्या है

नई दिल्‍ली: बॉलीवुड के मशहूर कोरियोग्राफर रेमो डिसूजा (Remo D’Souza) को बीते कुछ दिनों पहले हार्ट अटैक आया था, जिसके कारण वह हॉस्पिटल में भर्ती हुए थे. उनकी तबीयत के खराब होने से उनके परिवार पर भी मुसीबतों का पहाड़ टूट गया था. लेकिन अब रेमो डिसूजा की तबीयत पहले से काफी बेहतर हो गई है, साथ ही हॉस्पिटल से भी उनकी छुट्टी हो गई है.

Salman Khan ने मुश्किल घड़ी में मदद की

हाल ही में बॉम्बे टाइम्स को दिए इंटरव्यू में उन्होंने बताया कि इस मुश्किल घड़ी में सलमान खान ने उनकी काफी मदद की थी. रेमो डिसूजा ने बताया कि भले ही मैं और सलमान खान (Salman Khan) ज्यादा बात नहीं करते हैं, लेकिन इस मुश्किल घड़ी में उन्होंने हमारी काफी मदद की.

रेमो डिसूजा (Remo D’Souza) ने सलमान खान (Salman Khan) के बारे में बात करते हुए कहा, “हम उन्हें एक फरिश्ता कहते हैं और उनके पास सोने का दिल है. मैंने उनके साथ काम किया है और मैं जानता हूं कि वह किस तरह के अनमोल रत्न हैं. सलमान और मैं ज्यादा बात नहीं करते, मेरी बस उनसे ओके सर, येस सर की तरह ही बात होती थी.

news24on

असल में मेरी पत्नी और सलमान काफी क्लोज हैं. जैसे ही मैं हॉस्पिटल में भर्ती हुआ, लिजैल ने सलमान खान को कॉल किया. जितने छह दिन मैं हॉस्पिटल में था, उन्होंने यह देखा कि मेरा अच्छे से ख्याल रखा जा रहा है या नहीं. यहां तक कि उन्होंने डॉक्टर से भी व्यक्तिगत रूप से बात की.

अचानक हुवा चेस्ट पेन

रेमो डिसूजा (Remo D’Souza) ने हार्ट अटैक के बारे में बात करते हुए कहा, “रोजाना की तरह ही मैं और लिजेल जिम गए थे. मैं अपनी बारी का इंतजार कर रहा था और इस दौरान ही मैंने ट्रेडमिल पर दौड़ना शुरू किया और अपनी बॉडी को स्ट्रेच कर रहा था. जैसे ही लिजेल ने अपनी बारी खत्म की, मैं खड़ा हो गया. लेकिन तभी अचानक मुझे चेस्ट के बीच में दर्द होना शुरू हो गया.

मुझे लगा कि यह एसिडिटी के कारण होगा, तो मैंने पानी पी लिया. लेकिन दर्द तभी भी होता रहा. ऐसे में मैंने ट्रेनर से कहा कि आज की ट्रेनिंग रद्द कर देनी चाहिए. जैसे ही मैं और लिजेल ने ऊपर जाने के लिए एलिवेटर में गए, मैंने लिफ्ट का बटन दबाया और नीचे बैठ गया. जैसे ही मैं लिफ्ट से बाहर आया, मुझे खांसी आनी शुरू हो गई.

news24on

रेमो डिसूजा (Remo D’Souza) ने आगे बताया, “लिजेल ने मेरी स्मार्ट वॉच देखी, जो मेरी हार्टबीट चेक करता है. यह देखकर उन्होंने कहा कि क्या आपकी तबीयत ठीक नहीं है? दर्द ऐसा था, जो मैंने कभी भी जिंदगी में अनुभव ही नहीं किया हो. हॉस्पिटल पहुंचते ही डॉक्टर ने हमें बताया कि यह एक बड़ा हार्ट अटैक है.

मुझे बताया गया कि मेरी दाहिनी आर्टरी में 100 प्रतिशत ब्लॉकेज हो गई है. सामान्य तौर पर साधारण इंसान का हृदय 55 प्रतिशत तक काम करता है, लेकिन जब मुझे हॉस्पिटल ले जाया गया तो मेरा हृदय केवल 25 प्रतिशत तक ही काम कर रहा था. मुझे लगा कि यह मेरे साथ क्या हो गया.

Leave a Reply

Your email address will not be published.