कुणाल खेमू : गहरा न होने दें डर का भंवर

Spread the love

Kunal Khemu on web series Abhay अभिनेता कुणाल खेमू जल्द वेब सीरीज अभय में नजर आएंगेl यह इस वेब सीरीज का तीसरा सीजन हैl वह इसे लेकर काफी उत्साहित हैl इस शो को काफी पसंद किया जाता हैl

जेएनएनl Kunal Khemu on web series Abhay : वेब सीरीज ‘अभय’ के तीसरे सीजन में कुणाल खेमू एक बार फिर से एसपी अभय के किरदार में अपराध से जुड़ी गुत्थियां सुलझाने के लिए तैयार हैं। आठ अप्रैल से जी5 पर उपलब्ध इस शो, करियर की चुनौतियों और इंडस्ट्री से जुड़े मुद्दों पर कुणाल से दीपेश पांडेय की बातचीत के अंश…

(हंसते हुए) उम्र तीन साल बढ़ गई। मेरे अंदर पहले से ज्यादा समझ और परिपक्वता आई है। बतौर अभिनेता पहला सीजन तो इसे समझने में चला गया, दूसरे सीजन में आत्मविश्वास के साथ अभय के किरदार को निभाया। तीसरे सीजन में लोगों के साथ अभय के प्रति मेरी समझ भी बढ़ी है। दूसरे सीजन में अभय की पेशेवर और निजी जिंदगी को लेकर लोगों में मन में जो सवाल हैं, इस सीजन में उनके जवाब मिलेंगे।

Also Read : Side Effects of AC : अगर आप भी रोज AC का इस्तेमाल करते हैं , तो जान लें ये 5 बातें

एक ही शो का अलग-अलग सीजन आपको एक किरदार में बांधने जैसा नहीं होता?

मुझे यह किरदार निभाने में बड़ा मजा आता है। अगर आपको कोई किरदार निभाने में मजा न आए, फिर भी आपको बार-बार करना पड़े तो आप उसमें खुद को फंसा या बंधा हुआ कह सकते हैं। ‘अभय’ के तीन सीजन करने के बाद भी इसको लेकर उत्साहित रहता हूं कि अभय की जिंदगी में आगे क्या होगा और क्या हमें आगे एक और सीजन बनाने का मौका मिलेगा।

आपको किस चीज से सबसे ज्यादा भय है और किससे आजीवन अभय होना चाहेंगे?

मुझे ज्यादा ऊंचाई से डर लगता है। बचपन में पहली बार इस डर का एहसास हुआ। आमतौर पर तो हम चाहते हैं कि हर चीज से अभय रहें, लेकिन भय हमेशा नुकसान देने वाला नहीं होता है। कभी-कभी उससे जान भी बच जाती है। हालांकि भय इतना गहरा नहीं होना चाहिए कि उसकी वजह से जीवन में कुछ कर ही न पाएं।

अब आपके निर्देशन में भी आने की खबरें हैं..

फिलहाल इस खबर से इन्कार भी नहीं कर सकता और इसकी पुष्टि भी नहीं कर सकता हूं। यह गुत्थी जल्द ही सुलझेगी। तब तक के लिए इंतजार ही बेहतर है।

‘अभिनय के अलावा अन्य कामों में दिलचस्पी पहले से ही रही है?

पहला इश्क तो एक्टिंग से ही था। बाकी सारी चीजों के बारे में तो जानता भी नहीं था। इतनी सारी फिल्मों और प्रोजेक्ट्स में काम करने के बाद काम देखने और सीखने का मौका मिला। दिलचस्पी तो निश्चित तौर पर इन सब चीजों में है।

‘गो गोवा गान-2’ और ‘लूटकेस’ के सीक्वल की क्या स्थिति है?

आधिकारिक तौर पर तो मुझे ‘लूटकेस’ के सीक्वल के बारे में कुछ नहीं पता है। ‘गो गोवा गान-2’ को लेकर मुझे बहुत बुरा लगता है। बीच में हम यह फिल्म शुरू भी करने वाले थे, लेकिन बनते-बनते रुक गई। फिलहाल, उसके तारे कुछ सही नहीं लग रहे हैं और अभी इस फिल्म को लेकर उससे आगे कुछ बढ़ा नहीं है। मैंने हाल ही में एक पारिवारिक कामेडी फिल्म ‘कंजूस मक्खीचूस’ की शूटिंग खत्म की है, वो कुछ महीनों में रिलीज होगी। इसके अलावा एक और शो की शूटिंग खत्म कर ली है।

One thought on “कुणाल खेमू : गहरा न होने दें डर का भंवर

Comments are closed.