जिलेट गिलिनकुकोवाला.. क्या ये है वर्मा के ताजा ट्वीट का मतलब…!

Spread the love

हमें आरजीवी द्वारा ली गई समलैंगिक फिल्म पसंद है। इस फिल्म के प्रचार के हिस्से के रूप में .. राम गोपाल वर्मा ने आरआरआर प्रचार में राजामौली, एनटीआर और चरण की हंसी के वीडियो साझा किए और टिप्पणी की कि यह खतरनाक 2.0 है।

मुख्य विशेषताएं:

  • आरजीवी अपने तरीके से ‘मा इष्टम’ का प्रचार कर रहा है
  • एक बार फिर ट्रिपल आर पर वर्मा की टिप्पणी
  • आरजीवी ‘मा इष्टम’ 8 अप्रैल को

जिलेट गिलिनचुकोवाला..क्या यही है वर्मा के ताजा ट्वीट का मतलब…! नेटिज़न्स अब सोशल मीडिया पर टिप्पणी कर रहे हैं। सनसनीखेज निर्देशक राम गोपाल वर्मा लंबे समय से ऐसी फिल्में बना रहे हैं जिन्हें हर वर्ग के दर्शक देखते हैं। कोरोना के चलते लगभग दो साल से थिएटर बंद हैं और फिल्म का कोई शोर नहीं है। इस दौरान छोटे बजट की फिल्मों से लेकर बड़े बजट की फिल्मों तक की कई लोकप्रिय भाषा की ओटीटी फिल्में रिलीज हुईं। हालांकि, सबसे ज्यादा, वर्मा ओटीटी के लिए बनी एडल्ट कंटेंट वाली फिल्मों ने सबसे ज्यादा शोर मचाया।

वर्मा जानते हैं कि कब और किस तरह की फिल्म बनानी है। असली घटनाएं, मर्डर मिस्ट्री, भूत की कहानियां, वेश्या फिल्में.. अगर उसके मन में कोई विचार है, तो वह उसी विचार के साथ फिल्म को लपेटता है। फिल्म के हिट फ्लॉप होने से वर्मा का कोई लेना-देना नहीं है। अगर कोई फिल्म खींची जाती है और रिलीज़ होती है तो उसे इसकी परवाह नहीं है। इसलिए हाल के दिनों में यह फिल्म दर्शकों के बीच लोकप्रिय नहीं हो पाई है। लेकिन इसी बात ने उन्हें फिल्म निर्माता बना दिया।

ऐसा करने वाली डेंजरस पहली साउथ लेस्बियन फिल्म थी। यह घोषणा की गई है कि फिल्म को तेलुगु में मां इष्टम के नाम से रिलीज किया जाएगा। वर्मा की पैन इंडियन रेंज में 8 तारीख को रिलीज होने की योजना है। सेंसर भी पूरा हो गया है। लेकिन, आईनॉक्स..पीवीआर चेन मल्टीप्लेक्स वर्मा ने फिल्म को प्रदर्शित करने से इनकार कर दिया। इसे लेकर बेहद अधीर.. उन्होंने राजामौली द्वारा बनाए गए आरआरआर प्रमोशन के दौरान लिए गए फनी वीडियो को टैग किया और ‘डेंजरस 2.ओ’ कमेंट किया।

News24on

इस पर गौर करें तो आपको चरण, तारक … तारक द्वारा चरण को मारते हुए दृश्य दिखाई देंगे। मेरा मतलब है .. आप कह रहे हैं कि यह पोस्ट आपको यह समझाने के लिए लगाई गई थी कि क्या आप गिलिविलुकोवाला चाहते हैं .. उन्होंने पहले भी टिप्पणी की थी कि मेरी फिल्म रिलीज के लिए सिनेमाघरों की जरूरत नहीं है। मेरा मतलब है, क्या आप उसी डेंजरस फिल्म को अभी किसी ओटीटी में रिलीज करने की योजना बना रहे हैं.. बात शुरू हो गई। हमें देखना होगा कि वर्मा किस योजना पर अमल करेंगे।