कंगना रनौत का प्रियंका और दिलजीत पर निशाना, कहा- मेरी देशभक्ति पर सवाल उठाते हैं लेकिन इनकी नीयत पर नहीं

कंगना रनौत ने एक वीडियो जारी कर किसान आंदोलन, प्रियंका चोपड़ा और दिलजीत दोसांझ पर निशाना साधा है। अपने इस वीडियो में कंगना ने बताया है कि पिछले कुछ दिनों में उन्हें रेप और जान से मारने की धमकियां मिली हैं। उन्होंने कहा कि किसान आंदोलन राजनीतिक रूप से प्रेरित था। कंगना ने कहा कि इस देश में मुझे रोज अपनी देशभक्ति साबित करनी पड़ती है लेकिन कोई प्रियंका चोपड़ा या दिलजीत दोसांझ जैसे लोगों की नीयत पर सवाल नहीं करता।

ट्विटर पर शेयर किए इस वीडियो में कंगना कह रही हैं, ‘पिछले 10-12 दिनों से मुझे इमोशनल और मेंटल ऑनलाइन लिंचिंग का सामना करना पड़ा है। रेप और जान से मारने की धमकी मिली है, इसलिए मेरा हक बनता है कि अपने देश से कुछ सवाल करूं।’

किसान आंदोलन पर कंगना ने कहा, ‘जब प्रधानमंत्री जी ने किसी तरह की आशंका की गुंजाइश नहीं छोड़ी है तो यह बात तो साफ है कि यह पूरा आंदोलन राजीनितक रूप से प्रेरित है और कहीं न कहीं इसमें आतंकियों ने भी हिस्सा लेना शुरू कर दिया। मैं पंजाब में रही हूं, मैं वहां पढ़ी-लिखी हूं और मैं जानती हूं कि पंजाब के 99.9 प्रतिशत लोग खालिस्तान नहीं चाहते। वे देश का टुकड़ा नहीं चाहते।’

कंगना ने आगे कहा, ‘इस देश को जो तोड़ना चाहते हैं मैं उनकी भावनाएं समझती हूं, मैं बस देशवासियों से पूछना चाहती हूं कि जो मासूम लोग हैं वे कैसे खुद को इन लोगों की उंगलियों पर नचाने देते हैं। अब जैसे शाहीनबाग में दादी जी, वह पढ़ नहीं सकती लेकिन फिर भी अपनी नागरिकता बचाने के लिए आंदोलन कर रही हैं। पंजाब की एक दादी मुझे इतनी गंदी भद्दी गालियां दे रही हैं, अपनी जमीन बचाने की कोशिश कर रही हैं। क्या हो रहा है इस देश में? दोस्तों हम लोग खुद को टारगेट बनाना इतना आसान कैसे कर देत हैं इन आतंकियों के लिए, इन विदेशी शक्तियों के लिए।’

कंगना आगे कहती हैं, ‘मुझे आप लोगों से शिकायत है। मुझे शिकायत है कि हर दिन मुझे अपनी नीयत बतानी पड़ती है। एक देशभक्त को इतनी सफाई देनी पड़ती है लेकिन दिलजीत और प्रियंका चोपड़ा से कोई नीयत पर सफाई नही मांगता। यह किस तरह की नीति है। अगर मैं देश के हित में बात करती हूं तो कहते हैं मैं राजनीति कर रही हूं। इनसे भी तो पूछिए कि ये कौन सी नीति कर रहे हैं।’

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.