ऑफर वाले सिम का लालच देकर ठगी करने वाले दो अभियुक्त गिरफ्तार

Spread the love

5028 सिम कार्ड व 34 मोबाइल बरामद

लखनऊ। साइबर क्राइम सेल और चिनहट पुलिस की संयुक्त टीम ने ऑनलाइन ठगी के मामले में दो आरोपियों को आलमबाग से गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। गिरफ्तार आरोपियों के पास से 5028 सिम, दो बायोमीट्रिक मशीन और 34 मोबाइल बरामद हुए हैं। पुलिस पूछताछ के आधार पर गिरोह के अन्य सदस्यों की तलाश में जुटी है।

यह भी पढ़ें  मम्‍मी-पापा अपना ख्‍याल रखना..लेडी IPS ने मेरा कर‍ियर खराब कर दिया, रेल ट्रैक पर दो टुकड़ों में मिला बेटा

डीसीपी रईस अख्तर के मुताबिक चिनहट कोतवाली में 14 फरवरी को सुदीप प्रजापति ने ऑनलाइन ठगी की एफआइआर दर्ज कराई थी। सुदीप के खाते से 10 हजार 790 रुपये फोनपे एप आरै मोबीक्विक डाट काम के जरिए निकल गए थे। तफ्तीश में पता चला कि मूलरूप से हरदोई के गाजू रोड बालामऊ निवासी गोपाल मौर्या और जालौन के इंद्र नगर कुइया रोड उरई निवासी भरत शर्मा ने ठगी की है।

पुलिस ने सर्विलांस व मुखबिर तंत्र की मदद से दोनों को आलमबाग थाना क्षेत्र से गिरफ्तार कर लिया। एसीपी साइबर क्राइम सेल विवेक रंजन राय के मुताबिक पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि आरोपित विभिन्न कंपनियों का सिम बेचते थे। आरोपित लोगों की आइडी पर दो से पांच सिम एक्टिवेट करा कर एक सिम उन्हें दे देते थे शेष अन्य को बेच देते थे।

कैनोपी लगाकर आमजन को बनाते थे शिकार

गिरफ्तार आरोपितों ने पूछताछ में बताया कि वे ग्रामीण क्षेत्रों में जाकर विभिन्न सिम कंपनियों के कैनोपी लगाते थे। इसके बाद वे लोगों को सस्ते अथवा मुफ्त में सिम देने का झांसा देकर उनकी आईडी की फोटो कापी रख लेते थे। इतना ही नहीं लोगों की आधार फिंगर प्रिंट भी कंप्यूटर में सेव करने के साथ ही एक बाद में कई सिम उसी से ऐक्टीवेट कर लेते थे।

यह भी पढ़े :प्रदूषण का स्‍तर कम करेंगी भगवाधारी बसें, होली के बाद लखनऊ में ट्रॉयल होगा शुरू

इसके बाद काल सेंटर्स को फर्जी आइडी से लिए गए सिम बेच देते थे। इतना ही नहीं आरोपी पेटीएम, एयरटेल बैंक, भीम एप व अन्य ई-वालेट एकाउंट बनाकर आनलाइन ठगी की रकम ई-वालेट में मंगाते थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.