सूबेदार हत्याकाण्ड: पांच दिन बाद भी हत्यारा पुलिस गिरफ्त से दूर

Spread the love

घायल साथी सूबेदार का नहीं दर्ज हो पाया बयान

लखनऊ। कैंट थाना क्षेत्र स्थित सेंटर कमांड आफिसर्स मेस में हुई सूबेदार की हत्या मामले में पांच दिन बाद हत्यारा पुलिस गिरफ्त से दूर है। हालांकि काफी हद तक हत्या की गुत्थी घायल सूबेदार के बयान पर टिकी है। पुलिस ने बताया कि घटनास्थल से करीब 200 मीटर की दूरी पर संदिग्ध हालत में घायल मिले दूसरे सूबेदार रमेश राय की हालत में सुधार है लेकिन डाक्टरों के मुताबिक अभी बयान देने के हालत में नहीं है।

फॉरेंसिक टीम कर रही जांच

कैंट इंस्पेक्टर के मुताबिक पुलिस व सेना के अफसर मामले की जांच-पड़ताल कर रहे हैं। घायल सूबेदार का बयान अभी नहीं दर्ज हो पाया है। अन्य बिन्दुओं पर तफ्तीश की जा रही है। उधर पुलिस की छानबीन में मृतक जेसीओ के पास सिगरेट के दो टुकड़े मिले हैं। जिसकी फॉरेंसिक टीम जांच कर रही है।

अपने कमरे में मिले थे मृत

हालांकि पुलिस मामले में कुछ भी बोलने से बच रही है। गौरतबल हो कि कमांड आफिसर्स मेस के इंचार्ज के पद तैनात दार्जिलिंग निवासी 11 जीआरआरसी के नायब सूबेदार पेम्बा शेरपा (44) बीती 26 फरवरी को अपने कमरे में मृत अवस्था में मिले थे। जबकि साथी सूबेदार रमेश कुमार राई को रहस्यमय हालात में लहूलुहान अवस्था में छावनी के कमांड अस्पताल पहुंचा था।

बताया जा रहा है कि बताया जा रहा है कि सूबेदार पेम्बा शेरपा के पास आफिसर्स मेस के इंचार्ज के पद का चार्ज था जो कि रमेश कुमार को सौंपना था। इसी बात को लेकर दोनों में कई दिनों से विवाद भी चल रहा था।

योजना के तहत वारदात को दिया गया अंजाम

सूत्रों की मानें तो नायब सूबेदार सिम्पा बहादुर शेरपा की हत्या मामले में इस बात की आशंका भी जताई जा रही है कि जानबूझ कर सूबेदार की हत्या को लिए उस जगह को चुना गया जहां सीसीटीवी कवर नहीं कर रहा था। नायब सूबेदार शेरपा के शव के पास एक कटर मिला है। जिसका इस्तेमाल शेरपा के गले पर वार करने में किया गया था।

खून का एक भी नहीं मिला निशान

साथ ही सिगरेट के दो टुकड़े मिले हैं। माना जा रहा है कि नायब सूबेदार पेम्बा बहादुर शेरपा के साथ दूसरे व्यक्ति ने सिगरेट पी है। नायब सूबेदार पेम्बा बहादुर शेरपा के शव से लेकर 100 मीटर दूर स्टोर में जहां सूबेदार रमेश कुमार घायल हालत में मिला, वहां तक खून का एक भी निशान नहीं मिला है।

फिलहाल पुलिस घायल सूबेदार रमेश कुमार के बयान का इंतजार कर रही है। वहीं सूत्रों की मानें तो हत्यारा सेना के अन्दर का ही है। फिलहाल पुलिस जांच-पड़ताल कर रही है।

News24on se Hasan Rana ki khas report

Leave a Reply

Your email address will not be published.