Lucknow Crime : बैंक मैनेजर के साथ मिलकर 41 करोड़ का गबन करने वाले दो आरोपी गिरफतार

Spread the love

Lucknow Crime :

कृष्णानगर लखनऊ। कृष्णा नगर पुलिस ने बैंक से 41 करोड़ रुपए गबन मामले में शामिल दो अन्य आरोपियों को भी गिरफ्तार कर लिया। पुलिस को पकड़े गए आरोपी के पास से एक लग्जरी कार बरामद की है। जिसे पुलिस ने अपने कब्जे में लेकर मुकदमे में शामिल कर दिया है।

कृष्णा नगर कोतवाली प्रभारी आलोक राय के मुताबिक बीते वर्ष में केनरा बैंक क्षेत्रीय प्रबंधक ने  आलमबाग एलडीए बाराबिरवा में संचालित सिंडीकेट बैंक के शाखा प्रबंधक अखिलेश सिंह पर गिरोह बनाकर शाखा से 41 करोड़ रुपए वित्तीय घोटाले का मुकदमा दर्ज कराया था।

जिस पर पुलिस ने आरोपी शाखा प्रबंधक को बीते कुछ दिन पहले गिरफ्तार किया था। वहीं पुलिस की कार्रवाई में इस गिरोह का मास्टरमाइंड अमित तिवारी को भी गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका है। पुलिस की पूछताछ में कुछ अन्य साथियों के नाम उजागर हुए थे।

Lucknow Crime : निलम्बित शाखा प्रबंधक सहित मास्टरमाइंड भेजा जा चुका है जेल

संलिप्ता के आधार पर पुलिस ने मेजर उर्फ ओमप्रकाश निवासी पीजीआई व राजेश सिंह बाबादीन निवासी मानकनगर को गिरफ्तार किया है। कोतवाली प्रभारी आलोक राय ने बताया कि पुलिस की कड़ी पूछताछ में गबन में शामिल आरोपी मेजर ने बताया कि वर्ष 2०19 में उनकी मुलाकात राजेश सिंह के माध्यम से राज दुग्गल व संजय अग्रवाल से हुई थी।

राज दुग्गल ने बैंक में 41 करोड़ रुपए की एफ डी कराने की बात कह मोटे मुनाफे का लालच दिया था। जिस पर हम लोगों ने सिंडीकेट शाखा प्रबंधक अखिलेश सिंह से मुलाकात कर उनके सहयोग से 41 करोड़ रुपए की एफडी कराया गया था। जिसके एवज में हम लोगों को 45 लाख रुपए मिला था।