IPS अरविंद सेन भगोड़ा घोषित, भगोड़े पर 25000 रुपए का इनाम भी

Spread the love

लखनऊ: फर्जी टेंडर से ठगी के मामले में फरार चल रहे आईपीएस अरविंद सेन (IPS Arvind Sen) के लखनऊ स्थित घर पर भगोड़ा का नोटिस चिपकाया दिया गया है. शुक्रवार को नोटिस चिपकाने के साथ ही पुलिस ने आईपीएस के घर के दरवाजे पर डुगडुगी भी पिटवाई. बता दें कि लखनऊ में गोमती नगर के विराटखंड में आईपीएस अरविंद सेन का घर है.

पशुधन विभाग के फ़र्ज़ी टेंडर मामले में कोर्ट ने अरविंद सेन को भगोड़ा घोषित किया है. कोर्ट के आदेश पर हजरतगंज पुलिस ने ये कार्रवाई की है. मामले में आईपीएस अरविंद सेन कई दिनों से फरार हैं और लखनऊ पुलिस ने उन पर 25000 रुपए का इनाम भी घोषित किया है.

NEWS24ON

एंटी करप्शन कोर्ट ने आईपीएस अरविंद सेन को कोर्ट ने भगोड़ा घोषित कर दिया है. इसी मामले में एक अन्य आरोपी अमित मिश्रा को भी कोर्ट ने भगोड़ा घोषित किया. वहीं मामले में गिरफ्तार आरोपी सिपाही दिलबहार यादव के वॉयस सैंपल टेस्ट का कोर्ट ने आदेश दिया है. कोर्ट ने कहा कि आरोपी सिपाही दिलबहार यादव स्वेच्छा से अपनी आवाज का नमूना देता है तो उसे नियमानुसार रिकॉर्ड किया जाए.

विशेष जज संदीप गुप्ता ने अरविंद सेन को भगोड़ा घोषित करते हुए कहा कि यदि इसके बाद भी वह हाजिर नहीं होते हैं तो उनकी संपत्ति कुर्क करने की कार्रवाई शुरू की जाएगी.

बताते चले की 13 जून 2020 को इस मामले में एक एफआईआर लखनऊ के हजरतगंज थाने में दर्ज की गई थी. इंदौर के व्यापारी मंजीत सिंह भाटिया उर्फ रिंकू की तहरीर ये एफआईआर दर्ज की गई थी.

इसमें मोंटी गुर्जर, आशीष राय, उमेश मिश्रा सहित 13 अभियुक्तों को नामजद किया गया था. जांच के दौरान आईपीएस अरविंद सेन का नाम प्रकाश में आया. अभियुक्तों पर कूटरचित दस्तावेजा और छद्म नाम से गेहूं, आटा, शक्कर व दाल आदि की सप्लाई का ठेका दिलवाने के नाम पर 9 करोड़ 72 लाख 12 हजार रुपये की ठगी की गई.

Leave a Reply

Your email address will not be published.