हाईटेक पुलिस के दावे पस्त, चोर मस्त

Spread the love

शहरीय क्षेत्र से लेकर ग्रामीण इलाकों में चोरों ने मचा रखा है आंतक

लखनऊ: राजधानी में जनता की सुरक्षा के दावे करनी वाली पुलिस चोरों के आगे पस्त होती नजर आ रही है। चोर पुलिस की मुस्तैदी को चुनौती देकर लगातार चोरी की वारदात को अंजाम दे रहे हैं। चोरों ने ग्रामीण इलाकों के साथ—साथ शहरीय क्षेत्रों में पुलिस की नाक में दम मचा रहा है। इस बात की हकीकत हम नहीं बल्कि हफ्ते भर के अंदर हुई चोरी की घटनाएं बयां कर रही है।

केस एक : क्लीनिक की खिड़की तोड़कर लाखों चुराए

26 सितम्बर 2021 को पीजीआई कोतवाली क्षेत्र के वृंदावन योजना निवासी डॉ एल के शंखधर की क्लीनिक में चोरो ने हाथ साफ कर दिया। उन्होने बताया कि चोर क्लीनिक की खिड़की तोड़कर घर घुस आए थे। इसके बाद चोरों ने एलईडी टीवी समेत गल्ले में रखा पचास हजार के कैश पर हाथ फेर दिया था।  इस मामले में रविवार को पीजीआई पुलिस ने अज्ञात चोरों एफआईआर दर्ज कर जांच शुरु कर दी है।

केस दो : कीमती ज्वैलरी पर हाथ फेरकर फरार

08 अक्टूबर को जानकीपुरम के रहने विनोद कुमार यादव के घर पर चोरों ने धावा बोल दिया था। उन्होने बताया कि जिस वक्त चोरों ने उनके घर में चोरी की वारदात को अंजाम दिया उस वक्त उनके घर में ताला पड़ा था। देर शाम घर लौटने पर उन्हें घर में हुई चोरी की जानकारी हुई। नीचे कमरे का दरवाजा टूटा हुआ था और फर्श पर सारा समान बिखरा पड़ा था। बताया कि चोर अलमारी में रखी नकदी और कीमती ज्वैलरी पर हाथ फेरकर फरार हो गए। अगले दिन पुलिस ने अज्ञात चोरों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की थी।

केस तीन : एक साथ तीन घरों को बनाया निशाना

09 अक्टूबर को बीकेटी थानाक्षेत्र में बीका मऊ कला गांव में चोरों ने तीन घरों को निशाना बनाया था। चोरो ने गांव के बलराम, फूलचंद और राममिलन के घर में धावा बोलकर लाखों की गहनों के साथ घर में रखे कैश पर हाथ साफ कर दिया था। इस वक्त पीड़ितों ने बताया कि नकाबपोश चोरों ने छत के रास्ते से घर दाखिल हुए और चोरी की घटना को अंजाम दिया है।

दो साल में कम हुई चोरी की वारदात

डेली इनसाइडर से बातचीत के दौरान जेसीपी क्राइम निलब्जा चौधरी ने बताया कि साल 2019 की अपेक्षा इस साल चोरी की घटनाएं कम हुई हैं।  पुलिस को निर्देश दिया गया है कि वह अपना टारगेट पूरा करें। जबकि लखनऊ पुलिस ने चोरी के एक बड़े गैंग का खुलासा किया है। चोरी की घटनाओं का पर्दाफाश करने के लिए पुलिस को वारंटी समेत अपराधियों को पकड़ने का अभियान चलाने का निर्देश दिया गया है।