लूट व टप्पेबाजी की वारदात को अंजाम देने वाले गिरोह का सरगना गिरफ्तार

Spread the love

गिरोह के तीन अन्य सदस्य पुलिस गिरफ्त से दूर
मडिय़ांव पुलिस ने 23 दिन बाद लाखों की हुई लूटकाण्ड का किया खुलासा

लखनऊ। राजधानी लखनऊ कमिश्नरेट पुलिस ने मडिय़ांव थाना क्षेत्र में सेवानिवृत कर्मी से हुई नौ लाख की लूट का खुलासा करते हुए गिरोह के सरगना को गिरफ्तार करने का दावा किया है। हालांकि गिरोह के तीन सदस्य पुलिस गिरफ्त से दूर हैं। गिरफ्तार आरोपी के पास से लूट के साढ़े चार लाख रुपये बरामद हुए हैं। पुलिस फरार अन्य साथियों की तलाश में जुटी है। फिलहाल आरोपी को गिरफ्तार वाली पुलिस टीम को डीसीपी उत्तरी ने 20 हजार का नकद पुरस्कार देने की घोषणा की है।

 3 आरोपी फरार

डीसीपी रईस अख्तर के मुताबिक लूट व टप्पेबाजी की वारदातों को अंजाम देने वाले गिरोह के सरगना को घैला पुल के पास से गिरफ्तार किया गया है। पूछताछ में आरोपी ने अपना नाम जनपद बाराबंकी निवासी रोमी उर्फ उमा शंकर बताया है। लूट व टप्पेबाजी की घटनाओं में रोमी का साथ देने वाले इसके साथी धरमू, कन्नू व मनीष अभी फरार है।

इंस्पेक्टर के मुताबिक शातिर अपराधी रोमी ने 30 जनवरी की दोपहर मडिय़ांव के नौबस्ता में दोपहर के समय 70 वर्षीय बुजुर्ग हरिवंश अवस्थी से उस समय नौ लाख रुपए से भरा बैग लूट कर फरार हो गया था जब हरिवंश अवस्थी अपने पुत्र सुधाकर अवस्थी के साथ बाइक पर सवार होकर हजरतगंज की एसबीआई शाखा से मकान की रजिस्ट्री के लिए नौ लाख रुपए निकाल कर लाए थे।

पुलिस की मानें तो सुधाकर बाइक खड़ी कर घर के अन्दर चले गए थे और उनके पिता हरिवंश अवस्थी बाइक की डिग्गी से नौ लाख रुपए से भरा बैग निकाल कर घर के अन्दर जा रहे थे। तभी बाइक सवार रोमी ने हरिवंश अवस्थी के हाथ से नोटों से भर बैग छीनकर भाग निकला था। पूरे वारदात की फुटेज आसपास लगे सीसीटीवी कैमरे में भी कैद हुई थी।

तीन और लूट की घटनाओं का खुलासा

प्रभारी निरीक्षक मनोज सिंह ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी ने अपने साथियों के साथ मिलकर लखनऊ के कई थाना क्षेत्रों में लूट की वारदात को अंजाम देने की बात कबूल की है। इनमें मुख्य रूप से 13 जनवरी को थाना सहादतगंज में बैंक से रुपया निकालकर जा रहे व्यक्ति से एक लाख रुपये, 19 जनवरी थाना गोसाईगंज में बैंक से रुपया निकाल कर घर जा रहे व्यक्ति से चार लाख व 28 जनवरी को थाना तालकटोरा में बैंक से 42 हजार रुपया निकालकर घर जा रहे व्यक्ति से लूट की वारदात शामिल हैं।

गिरफ्तार आरोपी थाना कुर्सी जनपद बाराबंकी के ग्राम बेहड़पुरवा का मूल निवासी है किन्तु वर्तमान में अपने ससुराल करवल बड़ागांव वनारस व जनपद कटिहार बिहार में पुलिस से बचने के लिए रहता है। वहां से अलग अलग जनपदों में जाकर लूट की वारदात को अंजाम देता है। आरोपी ने इसी तरह के अपराध में जनपद लखनऊ ,बस्ती व अन्य जनपदों से जेल जा चुके है।

यह भी पढ़े : फरियाद लेकर कोतवाली पहुंची विवाहिता को इंस्पेक्टर ने फिल्मी गाना सुनाकर बनाया …

बैंक में चिन्हित व्यक्ति को बनाते थे शिकार

गिरफ्तार आरोपी रोमी उर्फ रमाशंकर ने बताया कि अपने साथियों के साथ बैंक पर जाते हैं । एक व्यक्ति  बैंक के अन्दर जाता है शेष तीन बैंक के बाहर सीसीटीवी कैमरे से बचने के लिए बाहर बाइक पर इंतजार करते हैं। बैंक के अन्दर गया व्यक्ति बैंक काउन्टर पर चेक या निकासी फार्म भरने वालों के बगल में खड़ा होकर देखता है कि कौन सा व्यक्ति कितनी रकम निकाल रहा है। शिकार को चिन्हित कर बाइक से पीछा करके रास्ते में रुपया भरा बैग छीन कर भाग निकलते थे। इसके साथ ही बैंक से रुपया निकालकर जा रहे व्यक्ति के पीठ पर पीछे बिस्कीट/पान खाकर थूक देते है और फिर उससे बोलते कि आपके पीछे कुछ लगा है जैसे ही वह व्यक्ति पीठ पर लगे दाग को साफ  करने लगता है उसका ध्यान भंग कर पैसों से भरा बैग लेकर फरार हो जाते हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.