Fake corona vaccine : कोरोना की नकली वैक्सीन बनाने वाले गिरोह का पर्दाफाश

Spread the love

Fake corona vaccine : कोरोना की नकली वैक्सीन बनाने वाले पांच गिरफ्तार 

एसटीएफ ने करोड़ों का टीका और जांच किट किया बरामद

Fake corona vaccine : लखनऊ। नकली कोरोन वैक्सीन और कोरोना टेस्ट किट बिक्री का खुलासा करते हुए एसटीएफ ने वाराणसी से पांच लोगों को गिरफ्तार किया है।

News24on

आरोपियों के कब्जे से करीब चार करोड़ रुपये की नकली कोविशिल्ड और जेडवाई कोविड की बड़ी खेप व बनाने का उपकरण बरामद हुआ है।

देश में पहली बार नकली कोरोना वैक्सीन की इस तरह की खेप पकड़ी गई है।

एसटीएफ के अपर पुलिस अधीक्षक विनोद सिंह के मुताबिक नकली वैक्सीन व नकली कोविड टेस्टिंग किट बड़े पैमाने पर बनाए जाने के इनपुट के आधार पर एसटीएफ फील्ड यूनिट वाराणसी की ओर से लंका के रोहित नगर में छापेमारी की गई।

यहां से सिद्धगिरी बाग के धनश्री कॉम्प्लेक्स निवासी राकेश थावानी, चौक के पठानी टोला निवासी संदीप शर्मा, नई दिल्ली के मालवीय नगर निवासी लक्ष्य जावा,

बलिया के रसड़ा निवासी शमशेर, लहरतारा के बौलिया निवासी अरुणेश विश्वकर्मा को गिरफ्तार कर लिया गया।

आरोपियों के कब्जे से….

News24on
News24on
News24on
News24on
News24on
News24on

 

1०8०० नकली रैपिड कोविड टेस्ट किट,

16०० कोविड वैक्सीन,

155०रेमिडिसिविर इंजेक्शन,

चार सिलिंग मशीन,

रैपर,

एक्सयूवी कार,

समेत अन्य दस्तावेज बरामद हुए हैं। पूछताछ पर गिरोह का सरगना राकेश थावानी ने बताया कि वह संदीप शर्मा,

अरुणेश विश्वकर्मा व शमशेर के साथ मिलकर नकली वैक्सीन व टेस्टिंग किट बनाता था।

नई दिल्ली के लक्ष्य जावा को सप्लाई करता था। वह अपने नेटवर्क के द्वारा अलग अलग राज्यों में सप्लाई करता था।

Fake corona vaccine : बड़े पैमाने पर नकली कोरोना वैक्सीन लगाने की आशंका

आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि नई दिल्ली निवासी लक्ष्य जावा की एक कंपनी के जरिये यूपी और अन्य प्रदेशों में इसकी सप्लाई होती थी।

बताया जा रहा है कि अब तक लाखों वैक्सीन की डोज बेची जा चुकी है। ऐसे में आशंका है कि बड़े पैमाने पर नकली कोरोना वैक्सीन लोगों को लगा दी गई है।

Fake corona vaccine : डिस्टिल वाटर भरकर बनाया जाता था वैक्सीन

गिरफ्तार सरगना राकेश थावानी ने पूछताछ में बताया कि उसकी वाराणसी में जूता चप्पल की दुकान है और वह किराये के मकान में रहता है।

कोरोना के दौरान मास्क की भारी कमी हो गयी थी, तब इसने मास्क, फेश-शील्ड बेचने-खरीदने का काम शुरू कर दिया।

इसके बाद दिल्ली से पैकिंग मशीन व अन्य उपकरण मंगाकर रेमडिसिविर इंजेक्शन तैयार व कोविड वैक्सीन तैयार करने लगा।

खाली शीशी में ग्लूकॉन-डी पॉउडर भर कर पैक कर रेमडिसिविर इंजेक्शन व डिस्टिल वाटर भरकर कोविड वैक्सीन तैयार करते थे।

वहीं कोविड टेस्ट किट तैयार करने के लिए प्रेग्नेन्सी टेस्ट का प्रयोग किया जाता था।