Lucknow Crime : 10 दिनों में नकली नोटों के सात सौदागर गिरफ्तार,रहस्य बरकरार

Spread the love

 गुडम्बा से दो व तालकटोरा से पांच तस्करों के पकड़े जाने का मामला नकली करेंसी के मामले में कई सौदागर फरार । लखनऊ पुलिस कमिश्नरेट बीते 10 दिनों में नकली नोटों के साथ सात लोगों को गिरफ्तार  किया है।

इनमें गुडम्बा पुलिस ने मुठभेड़ में दो और डीसीपी पश्चिम सर्विलांस सेल की मदद से तालकटोरा पुलिस ने पांच लोगों को नकली नोटों के साथ गिरफ्तार किया है।

गुडम्बा पुलिस ने जिन दोनों आरोपियों को मुठभेड़ में नकली नोटों के साथ दबोचा है। वे दोनों आरोपी थाने में दर्ज लूट के मामले में वांछित थे।

वहीं बुधवार को तालकटोरा पुलिस के हत्थे चढ़े पांच आरोपियों में से दो के लिए जानलेवा हमला समेत चोरी के मामले में केस दर्ज है।

फिलहाल गुडम्बा पुलिस मुठभेड़ के दौरान अंधेरा का फायदा उठाकर भाग निकले वांछित आरोपी की तलाश कर रही है। वहीं तालकटोरा पुलिस गिरोह के फरार तीन सदस्यों को तलाश रही है।

  Lucknow Crime : चकमा देकर फरार हुए आरोपी का नहीं लगा सुराग  

गुडम्बा इंस्पेक्टर के मुताबिक 3 जनवरी की रात मुठभेड़ में पकड़े गए देविरिया निवासी मंगेश व विशाल यादव को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया था।

वहीं अंधेरा का फायदा उठाकर मौके से भाग निकले फरार तीसरे आरोपी की तलाश की जा रही है।

आरोपियों के पास से 100-100 के 416 नकली नोट,अवैध तमंचा,कारतूस,बाइक व 32 सौ रुपये के असली नोट मिले थे। नकली नोटों को जांच के लिए भेजा गया है। जिसकी अभी रिपोर्ट नहीं आयी है।

Lucknow Crime : गिरोह के फरार सदस्यों की तलाश

तालकटोरा पुलिस ने बुधवार को जनपद प्रतापगढ़ के रहने वाले जीआरपी में तैनात सिपाही राहुल सरोज, हसनगंज निवासी सलमान उर्फ आफताब, बिहार निवासी मो. मुबस्सिर, हसनगंज निवासी मोहम्मद अरबाज व ठाकुरगंज निवासी सावेज खान को आलमनगर पुल के पास से गिरफ्तार किया था।

आरोपियों के पास से 20, 50, 100, 200 और 500 के कुल 81550 जाली नोट व जाली नोट बनाने के उपकरण बरामद हुए। सिपाही राहुल सरोज ने जाली नोट बनाने वाली मशीन खरीदने के लिए रुपये लगाए थे।

वहीं फरार आरोपी जमील ने करीब सात माह पहले आपसी विवाद में आशियाना में आशीष लाला को गोली मार दी थी। जाली नोट तस्करी के गिरोह में शामिल जमील, यूसुफ  और कादिर अभी फरार हैं। विधानसभा चुनाव में जाली नोटों की बड़ी खेप बाजार में खपाने की योजना थी।

तालकटोरा इंस्पेक्टर राकेश कुमार ने बताया कि गिरोह के फरार सदस्यों की तलाश की जा रही है। साथ ही आरोपियों के पास से बरामद नकली नोटों को जांच परीक्षण के लिए भेजने की कार्रवाई की जा रही है।

Lucknow Crime : रिपोर्ट आने के बाद ही नकली नोटों की पुष्टिï

तालकटोरा से गिरफ्तार किए गए नकली नोटों के कारोबारियों का गुडम्बा से मुठभेड़ में दबोचे गए नकली नोटों के तस्करों से कनेक्शन पुलिस खंगाल रही है।

अब तक की पड़ताल में पुलिस ने दोनों मामलों का एक दूसरे से संबंध न होने की जानकारी दी है।

तालकटोरा पुलिस का कहना है कि पकड़े गए आरोपी घर में ही असली करेंसी का स्कैन कर जाली नोट तैयार करते थे।

वहीं गुडम्बा पुलिस अभी तक यह पता नहीं लगा पायी है कि पकड़े गए आरोपियों के पास से नकली नोट कहां से आया है।

पुलिस का कहना है कि फरार तीसरा आरोपी जाली नोटों की सप्लाई देता था। उसके पकड़े जाने के बाद ही स्पष्टï हो पायेगा।

फिलहाल दोनों ही मामलों में नकली नोटों को परीक्षण के लिए भेजा गया है। रिपोर्ट आने के बाद की नोटों के असली नकली होने का पता चलेगा।