UP STF : करोड़ों की ठगी करने वाला कम्पनी का निदेशक गिरफ्तार

Spread the love

एसटीएफ ने आरोपी को चिनहट थाना क्षेत्र से दबोचा

लखनऊ। हैलारोइड कम्पनी के पूर्व अधिकारी और ओजोन इनफिनिटी के निदेशक आजम अली को  एसटीएफ  ने लखनऊ से गिरफ्तार किया है।

आरोपी काफी समय से फरार था। उसकी गिरफ्तारी के लिए 25 हजार रुपये का इनाम घोषित था।

एडीजी एसटीएफ अमिताभ यश के मुताबिक बुधवार को एसटीएफ  की साइबर क्राइम टीम ने चिनहट कठौता झील के पास से बलरामपुर निवासी आजम अली को पकड़ा है। आरोपी के पास से तीन मोबाइल,एक कार व 4010 रुपये की नकदी बरामद हुई है।

NEWS24ON
               NEWS24ON

आरोपी के खिलाफ  विभूतिखंड, हजरतगंज और कानपुर में जालसाजी के 11 मुकदमे दर्ज हैं। एसटीएफ  अधिकारियों के मुताबिक आजम अली हैलोराइड कम्पनी में काफी समय तक जुड़ा रहा है।

जिसका आफिस साइबर हाइट्स विभूतिखण्ड में आठवें तल पर था। यहीं पर आरोपी ने हैलोराइड के निदेशक अभय कुशवाहा से ठगी के तरीके सीखे थे।

बाइक टैक्सी चलाने का झांसा देने वाले अभय पर पुलिस का शिकंजा कसने लगा था। ऐसे में आजम अली ने ओजोन इनफिनिटी के नाम से नई कम्पनी बना ली थी।

पूछताछ में यह भी पता चला कि आजम अली वर्ष 2013 से धोखाधड़ी में शामिल था। उसने इनफिनिटी वल्र्ड के नाम से भी एक फर्म बनाई थी।

बाइक टैक्सी के नाम जमा कराये करोड़ों रुपये

हैलोराइड कम्पनी बाइक टैक्सी चलाने के नाम पर ग्राहकों से 61000 रुपया जमा करने के बदले प्रति माह 9582 रू 12 माह तक (114984) देने का प्रलोभन देकर रुपये जमा कराता था ।

कम्पनियों में जब लगभग 100 करोड़ रुपया जमा हो गया तो कम्पनी ने ग्राहकों को पेमेंट देना बंद कर दिया।

जिस कारण किसी ग्राहक ने थाना विभूतिखण्ड में मुकदमा दर्ज करा दिया, जिससे अभय कुशवाहा को मार्च 2019 में विभूतिखण्ड पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

जेल में लगभग 3 महीने रहने के बाद अभय कुशवाहा की जमानत हो गयी। एसटीएफ ने बताया कि कम्पनी के आफिस लखनऊ, फतेहपुर, मुजफ्फरपुर बिहार, मोहाली पंजाब, पठान कोट पंजाब, जीरक पुर पंजाब  नोयडा आदि जगह थे।

अभय कुशवाहा व कम्पनी के अन्य डायरेक्टर इस समय पुलिस से बचने के लिए  देश के अलग अलग राज्यों मे छिप कर रह रहे हैं।

इस गैंग द्वारा लगभग 100 करोड़ रुपये की ठगी की जा चुकी है।