Crime in Lucknow : नव-विवाहिता शिक्षिका की गला घोंट कर उतारा मौत के घाट

Spread the love

Crime in Lucknow : पारा पुलिस ने चंकबंदी विभाग में तैनात आरोपी पति को दबोचा

लखनऊ। दहेजलोभियों ने नव-विवाहिता शिक्षिका की गला दबाकर हत्या कर दी। पीडि़त पिता ने चकबंदी विभाग में तैनात पति समेत अन्य ससुरालजनों के खिलाफ पारा कोतवाली में मुकदमा दर्ज कर कराया है। पुलिस शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज मामले की जांच-पड़ताल कर रही है।

ठाकुरगंज शिवाजीपुरम आलमनगर रोड धनिया महरी पुल निवासी दोस्त सिंगार पुत्र रामसुददीन के मुताबिक उसने अपनी बेटी सरिता प्रजापति (28)का विवाह 21 नवंबर 2021 को विमल सिंह यादव निवासी पिंक सिटी बुद्घेश्वर पारा के साथ किया था।

शादी में अपनी हैसियत दान दहेज दिया था, लेकिन ससुरालीजन दहेज से मांगकर आये दिन बेटी सरिता को प्रताडि़त करते रहते थे। आरोप है कि ससुरालजन प्लाट खरीदने के लिए दहेज में 15 लाख रुपये की मांग करते थे।

शनिवार समय करीब 06.00 बजे शाम को बेटी सरिता का फोन आया और बताया कि ससुरालवालों ने उसे बंधक मारकर मारपीट कर रहे हैं। इस सूचना पर वह अपनी पुत्री के ससुराल जाने के लिए रास्ते में ही था कि इसी दौरान दोबारा फोन आया कि उसकी बेटी को लेकर ट्रामा सेन्टर जा रहे है।

इस सूचना पर जब वह मौके पर पहुंचा तो देखा कि बेटी सरिता की मौत हो चुकी थी। पारा इंस्पेक्टर ने बताया कि पीडि़त के तहरीर पर पति विमल सिंह यादव, कपिल सिंह यादव, सुमेन्द सिंह यादव, निर्मल सिंह यादव, अमरेन्द्र सिंह यादव,पल्लवी व सास संतोष कुमारी के विरूद्घ मुकदमा दर्ज किया गया है।

परिवारिक कलह में गला दबाकर सरिता की हत्या की गई है। पति को गिरफ्तार कर लिया गया है। अन्य लोगों की गिरफ्तारी के प्रयास किये जा रहे हैं। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर आगे की कानूनी कार्रवाई की जायेगी।

Crime in Lucknow : प्रेम-प्रसंग के बाद रजामंदी से हुआ था विवाह

मूलरुप से बजनामऊ हरौनी बंथरा निवासी विमल सिंह यादव का शिवाजीपुरम निवासी सरिता से कई वर्षों से प्रेम प्रसंग चल रहा था। इसी बीच सरिता सरकारी अध्यापिका की नौकरी हासिल कर ली।

वहीं विमल चकबंदी विभाग में नौकरी पा गया। दोनों परिवार की रजामंदी से बीते 21 नवम्बर को विवाह हुआ था। सरिता सीतापुर के मामूदाबाद में शिक्षिका के पद पर तो पति वर्तमान में चकबंदी विभाग बापू भवन में राज्यमंत्री राजस्व के यहां अटैच था।

बताया जा रहा है कि शनिवार की शाम करीब 6 बजे के आसपास विमल और सरिता के बीच किसी बात को लेकर विवाद हो गया। विवाद के बाद विमल ने अपनी पत्नी सरिता की गला दबाकर हत्या कर दी। विवाह के बाद से ही दोनों में काफी अनबन चल रही थी।