बीमा पॉलिसी मेच्योर कराने का झांसा देकर लाखों की ठगी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश

Spread the love

लखनऊ । बीमा पॉलिसी मेच्योर कराने का झांसा देकर लाखों रुपये हड़पने वाले गिरोह के चार सदस्यों को साइबर क्राइम सेल और इंदिरा नगर पुलिस की संयुक्त टीम ने गिरफ्तार किया है। आरोपित फर्जी  कॉल सेंटर बनाकर लोगों को झांसे में लेकर उनके खाते से रकम पार कर देते थे। पुलिस गिरोह के अन्य सदस्यों की तलाश में जुटी है।

इंदिरानगर प्रभारी निरीक्षक क्षितिज त्रिपाठी के मुुताबिक गिरफ्तार किए गए चारों आरोपित गाजियाबाद के रहने वाले हैं। इनमें साया अपार्टमेंट इंदिरापुरम निवासी जंगशेर सिंह उर्फ शमशेर, सिहानी गेट निवासी मंगल सिंह उर्फ जयप्रकाश सिंह , टीला मोड़ निवासी सुमित और कविनगर निवासी मुशाहिद उर्फ सन्नी शामिल हैं। आरोपियों के कब्जे से छह मोबाइल बरामद हुए हैं।

 40 लाख रुपये ठग लिए

इंस्पेक्टर ने बताया कि जालसाजों ने पीडि़त महेंद्र सिंह को फोन कर उनकी बीमा पॉलिसी को समय से पहले ही मेच्योर कराने का झांसा दिया था। ठगों की बातों में आकर महेंद्र सिंह ने उन्हें पॉलिसी के बारे में सारी जानकारी दे दी थी। यही नहीं महेंद्र ने अन्य बैंकों में कराए गए पॉलिसी का ब्यौरा भी ठगों को दे दिया था। इसके बाद जालसाजों ने कई बार में करीब 40 लाख रुपये ठग लिए थे।

छानबीन में पता चला कि गिरोह ने अलग-अलग लोगों के खातों में रुपये ट्रांसफर किए थे। पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि फर्जी कागजों के आधार पर सिम एक्टिवेट कराते थे। इसके बाद बीमा पॉलिसी की डिटेल हासिल कर पॉलिसी धारक को झांसे में लेकर पूरा ब्यौरा हासिल कर कूटरचित दस्तावेजों के माध्यमों से रुपये खाते में ट्रांसफर करा लिया जाता था। पुलिस ने बताया कि गिरोह के सदस्यों ने अलग-अलग बैंकों में भी जाली नाम से खाते खुलवाए थे। जंग शेर, मंगल, सुमित और मुशाहिद ने गिरोह के लिए बैंक खाते और सिम का इंतजाम कराता था। फिलहाल पुलिस गिरोह के सरगना समेत अन्य साथियोंं की तलाश कर रही है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.