WhatsApp की नई पॉलिसी को नहीं मानने पर 4 माह में बंद होगा अकाउंट

Spread the love

WhatsApp की नई प्राइवेसी पॉलिसी एक बार चर्चाओं में है. प्राइवेसी पॉलिसी के तहत अगर यूजर्स शर्तों को एक्सेप्ट नहीं करते हैं तो आपका अकाउंट बंद कर दिया जाएगा. इन शर्तों को स्वीकार करने के बाद यूजर्स फिर से मैसेजिंग ऐप का यूज कर सकेंगे. हालांकि व्हाट्सऐप ने प्राइवेसी पॉलिसी को 15 मई तक के लिए टाल दिया है.

डीएक्टिवेट होंगे अकाउंट

एक रिपोर्ट के मुताबिक प्राइवेसी पॉलिसी के तहत जो यूजर्स शर्तों को नहीं मानेंगे उनका अकाउंट डीएक्टिवेट कर डीएक्टिवेट लिस्ट में डाल दिया जाएगा और इन अकाउंट्स को 120 दिन बाद हटाया जा सकता है. वहीं कॉल और नोटिफिकेशन अभी भी कुछ समय के लिए काम करेंगे लेकिन ये कुछ हफ्तों तक ही चलेगा.
WhatsApp ने जनवरी में अपडेट की घोषणा की

यह भी पढ़े : फरियाद लेकर कोतवाली पहुंची विवाहिता को इंस्पेक्टर ने फिल्मी गाना सुनाकर बनाया …

कई यूजर्स ने इस नई पॉलिसी को लेकर नकारात्मक प्रतिक्रिया व्यक्त की. यूजर्स का कहना है कि व्हाट्सऐप अपनी पेरेंट कंपनी फेसबुक के साथ डेटा शेयर करने की प्लानिंग कर रहा है. हालांकि व्हाट्सएप ने ये सफाई दी कि कंपनी किसी का डेटा शेयर नहीं करेगी. नई पॉलिसी का मकसद व्यवसायों को भुगतान सक्षम करना था.

यह भी पढ़े : UP Budget 2021: बीते वित्तीय वर्ष से 38 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा का बजट

WhatsApp ये डेटा करता है शेयर

व्हाट्सएप पहले से ही फेसबुक के साथ कुछ जानकारी साझा करता है, जैसे डिवाइस का आईपी एड्रेस और प्लेटफॉर्म के माध्यम से खरीदना और बेचना, लेकिन ऐसा यूरोप या ब्रिटेन में नहीं होता है क्योंकि गोपनीयता कानून अलग हैं. व्हाट्सएप की शुरुआती घोषणा के बाद टेलीग्राम और सिग्नल जैसे प्लेटफार्मों की मांग में भारी वृद्धि हुई क्योंकि व्हाट्सएप उपयोगकर्ताओं ने वैकल्पिक ‘एन्क्रिप्टेड मैसेजिंग सिस्टम’ की तलाश शुरू कर दी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.